Monday, April 5, 2010

अजब गजब ये भी खबर है.......................


लम्बे समय की ख़ामोशी के बाद आज से फिर से लेखन चालू हो गया है... अभी कुछ समय से बहुत बिजी चल रहा था सो अपना लेखन नियमित रूप से नही हो पा रहा था... आज से फिर से कोशिश कर रहा हू लिखना चालू रखू.... इस बीच कई लोगो से बातचीत हुई ... उन्होंने भी कहा कोई नयी पोस्ट पढने को नही मिल रही है आजकल..... इस कारण लिखना शुरू कर दिया है.........आपसे कुछ समय के लिए संवाद टूट गया... माफ़ी मांगता हू... छमाप्रार्थी हू..............


छितिज पांडे अपने जूनियर साथी है .... नयी दुनिया में इन दिनों काम सीख रहे है... परसों सुबह सुबह चाय पीते समय मुझसे हाल चाल जानने लगे... मैंने कहा आप ही सुनाये क्या चला रहा है नया ताजा... उन्होंने बताया सब सामान्य है..... उनसे जब प्रिंट की खबरों की टोह लेना शुरू किया तो उन्होंने मुझको यह फोटो दे दी... गौ माता के ये बछड़ा भी खबर है... बछड़े के चार कान है.... गौर से देखिये... छितिज पांडे के सौजन्य से यह दुर्लभ फोटो मिली है ... उनको भी धन्यवाद .... वे भी अपनी पांडे बिरादरी से आते है.........उनको यह तस्वीर राजगढ़ मध्य प्रदेश से मिली है..................

अब लिखना जारी रहेगा...... आपकी प्रतिक्रियाओ का इन्तजार रहेगा... अपनी रिपोर्टिंग के कई किस्सों पर चर्चा करनी है....

6 comments:

Jandunia said...

आपका ये पोस्ट पढ़ा, धन्यवाद। अगली पोस्ट का इंतजार है।

दिलीप said...

bahut khoob ...

http://dilkikalam-dileep.blogspot.com/

bhupendra namdev said...

ptc baba ki jai ho

meetu said...

क्या हर्ष बहुत बिजी चल रहे हो आजकल? सब खरीयत है ना जनाब..... पिछले एक महीने से ब्लॉग पर कोई नयी पोस्ट पड़ने को नहीं मिली है....अखबारों और मैग्जीनो में तुमको पड़ते रहती हू....लेकिन यार नेट पर भी कुछ डाल दिया करो..... जमाना संचार क्रांति का है डाट कॉम वाला.. चलो इस बछड़े की फोटो डालकर तुमने हम पाठको को तो याद किया....

darshan said...

बहुत सुन्दर लेखन चालू रखिये..........कम से कम आप जैसे लेखको से हम जुड़े रहना चाहते है कृप्या हमारा तो ध्यान रखे......... आशा है नयी पोस्ट अब बोलती कलम में पड़ने को मिलते रहेंगी.....

Kshitiz Pandey said...

धन्यवाद् सर, अपने मेरी दी हुई फोटो को अपने ब्लॉग पर पोस्ट किया