बुधवार, 21 अप्रैल 2010

राहुल बाबा महेन्द्र को भी लिफ्ट करा दो........................


सुबह सुबह खबरों की खोज खबर करने दफ्तर से निकल ही रहा था तो मेरे कैमरा मैन की मोबाइल की घंटी बजी...... उसने फ़ोन उठाया तो आवाज नजरुद्दीन भाई की आई ..... वह एक नेशनल चैनल के कैमरा मैन है... उनसे जब बात करवाई गयी तो उन्होंने बताया प्रदेश में राहुल गाँधी से मिलने की चाह में एक परिवार के लड़के ने खाना पीना छोड़ दिया है .... मेरा माथा ठनक गया ... तुरंत अपने कैमरा मैन को लेकर मै उस परिवार की व्यथा सुनने चला आया...


राहुल गाँधी के बगल में जो ये तस्वीर आप देख रहे है यह तस्वीर है ३१ साल के महेंद्र सिंह कटियार की ... जो पिछले १४ महीनो से राहुल गाँधी से मिलने की जिद पर अड़े है... महेंद्र शादी शुदा है जिनके २ बच्चे भी है॥

परिवार वालो ने बताया राहुल गाँधी की खुमारी महेन्द्र के सर से उतरने का नाम नही ले रही है... हम उससे बहुत ज्यादा परेशान हो गए है... महेन्द्र से परेशान इसलिए भी है पिछले १४ महीनो से उसने खाना पीना बिलकुल बंद कर दिया है....

कभी कभी वह पानी और दूध ले लिया करता है... राहुल से मिलने की जिद के चलते उनका स्वास्थ्य दिन पर दिन गिरता जा रहा है...

महेन्द्र के पिता दशरथ सिंह से जब मैंने ये पूछा आपका बेटा राहुल से मिलने की हट क्यों किये हुए है तो उन्होंने बताया इसका जवाब तो वह भी उन्हें नही दिया करता है.... महेन्द्र के पिता कहते है वह आज भोपाल २०० किलो मीटर दूर से चलकर आये है ताकि मीडिया के सामने महेन्द्र के मामले को उठा सके.... दशरथ का गाव बामोरी खूटिया पोस्ट बिल्हेरू पड़ता है जो मध्य प्रदेश के अशोक नगर जिले का एक अंग है...

महेन्द्र की माता से मिलकर मन ग़मगीन हो गया.... एक माँ के साथ ऐसे समय पर क्या बीत रही होगी ये सब समझने वाली बात है... महेन्द्र की माँ ये कहकर रो पड़ती है कि उनके परिवार के पूरे सदस्य महेन्द्र को समझा कर थक चुके है॥ लेकिन इसके बाद भी वह अपनी राहुल गाँधी से मिलने की जिद नही छोड़ रहा है...वह कहती है अगर जल्द ही उसकी राहुल से मिलने की तमन्ना पूरी नही हुई तो उसकी अर्थी परिवार के सामने निकल जायेगी.....

महेन्द्र के माता पिता के साथ राजधानी पहुचे उसके पारिवारिक सदस्यों ने बताया कि महेन्द्र की जिद के आगे वे भी बड़े लाचार है...महेन्द्र की जिद को पूरा करने के लिए वे एक बार केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश पचौरी से भी दिल्ली में मिल चुके है.....

लेकिन उनके द्वारा दिए गए आश्वासन भी आज तक पूरे नही हुए है...यही नही उनका परिवार एक बार राहुल गाँधी के बंगले में जाकर उनसे मिलने की अर्जी दरबार में दे आये है लेकिन आज तक उस पर कोई प्रगति नही हुई है... परिवार वालो ने सुरेश पचौरी से गुहार लगाते हुए कहा है वे उनके बच्चे को कांग्रेस के युवराज से मिलवा दे जिससे महेन्द्र की जान बच जाए.......

कहते है बच्चे जिद करते है लेकिन इस वाकये को देखकर लगता है जिद कोई भी कर सकता है... क्या जिद है .... ? राहुल से मिलने की तमन्ना महेन्द्र अपने दिल में पाले है... उसका परिवार परेशान है॥ इसी चाहत के चलते वह घर से भी बाहर नही निकल रहा है...

जब भी टीवी में राहुल गाँधी की तस्वीर देखता है तो अपना ध्यान उनकी खबर में लगा देता है॥ यह सब राहुल के आकर्षण का कमाल है या कुछ और कह पाना मुश्किल है.... कह सकते है राहुल के कारण महेन्द्र अपनी सुध बुध खो बैठा है ...

अब इस मुसीबत से उसको बाहर निकलने का रास्ता उसके परिवार वालो को कोई बताये..... ये तो वही बात हुई ..." भव पार करो भगवान् तुम्हरी शरण परे"..... आपको कोई रास्ता सूझता है तो आप ही बताये महेन्द्र के माता पिता अगर मिले जाए तो उनको मै ही आपका सुझाव प्रेषित कर दूंगा.....

10 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

जय हो ऐसे भक्ति भाव की!!

Babli ने कहा…

बहुत ही सुन्दर, शानदार और लाजवाब प्रस्तुती! बधाई!

संजय भास्कर ने कहा…

यही दौर है आज का...अति मार्मिक रचना.

darshan ने कहा…

हर्ष बाबू लिखते रहिये.......... बहुत अच्छा लिख रहे है.. दिन पर दिन प्रोग्रेस में हो........आने वाला कल आप जैसे लोगों का है....आप उत्तराखंड के उभरते सितारे है....... | हम जैसे लोग आपका मार्गदर्शन पा रहे है ये हमारा सौभाग्य है......

darshan ने कहा…

हर्ष बाबू लिखते रहिये.......... बहुत अच्छा लिख रहे है.. दिन पर दिन प्रोग्रेस में हो........आने वाला कल आप जैसे लोगों का है....आप उत्तराखंड के उभरते सितारे है....... | हम जैसे लोग आपका मार्गदर्शन पा रहे है ये हमारा सौभाग्य है......

कविता रावत ने कहा…

Maarmik prastuti......
Aksar aaye din aise khabron se dil mein bahut thes pahunchti hain ...
Beraham dil hoti duniya mein abhi bhi insaniyat bachhi hai yah dekhakar man ko sukun milta hai...
Sambedansheel hone aur samajik kartvyabod se bhari aapki prastuti bahut achhi lagi..
Haardik shubhkaamnayne..
Aur han aapne mere blog par puchha tha..... han main uttarakhand se hun...
Bahut saarthak prayas aapka..likhte rahiyega....

arvind ने कहा…

bahut acchaa likhte hain....aisi bhakti to anuthi hai...jay ho.

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

क्या कहा जा सकता है ...हम प्रयास कर सकते हैं किसी तरह ये बात मीडिया तक पहुंचे ....बात जितनी फैलेगी राहुल तक जल्द पहुंचेगी ....!!

Lalit Kuchalia ने कहा…

kamse kam kise ne to iski pehal ki ese ghtna ka samne lane ke liye aapka bhut dhanyavad

अल्पना वर्मा ने कहा…

बेचारे महेंद्र की जिद्द!
सब से अच्छा है किसी टी वी चेनल वालों को बताएं..एक बार समाचार प्रसारित होगा तो शायद उस बच्चे की मनोकामना पूरी हो जाएगी.